Layoff News: इस साल भी जारी है छंटनी का कोहराम, 15 दिनों में इन कंपनियों के एंप्लॉयीज पर चली तलवार – Another year of layoffs List of tech companies and other that laid off employees in past 15 days


Layoff News: नया साल में भी छंटनी की तलवार का कहर जारी है। इस महीने जनवरी के शुरुआती 15 दिनों में 91 से अधिक कंपनियों ने 24 हजार से अधिक टेक एंप्लॉयीज की छंटनी कर दी है। छंटनी को ट्रैक करने वाली साइट Layoffs Tracker के मुताबिक इस साल 15 जनवरी तक Amazon, Coinbase, Salesforce समेत अन्य कंपनियों में 24151 टेक प्रोफेशनल्स की छंटनी हुई है। पिछले साल 2022 में Meta, Twitter, Oracle, Nvidia, Snap, Uber, Spotify, Intel और Salesforce समेत अन्य कंपनियों ने 1,53,110 एंप्लॉयीज को कंपनी से बाहर निकाल दिया था।

छंटनी की मार सिर्फ टेक एंप्लॉयीज ही नहीं बल्कि अन्य सेक्टर्स के भी लोगों पर भी पड़ रही है। जैसे कि डायमंड सिटी के रूप में प्रसिद्ध् सूरत में करीब 20 हजार को अपनी नौकरी गंवानी पड़ी। वहीं वित्तीय सेक्टर की अहम कंपनी Goldman Sachs ने भी बड़ी संख्या में एंप्लॉयीज को छुट्टी दे दी है। यहां ऐसी कुछ कंपनियों के बारे में जानकारी दी जा रही है, जिसमें छंटनी की तलवार ने इस साल कोहराम मचाया।

अमेजन ने 5 जनवरी को दुनिया भर में अलग-अलग डिपार्टमेंट्स से 18 हजार कर्मियों की छंटनी का ऐलान किया था। अमेजन इंडिया ने अपने 1 फीसदी यानी एक हजार एंप्लॉयीज को बाहर निकाल दिया।

Amazon का 18,000 से ज्यादा एंप्लॉयीज की छंटनी का ऐलान, जानिए कौन सी डिवीजंस पर होगा असर

अमेरिका की वीडियो-होस्टिंग प्लेटफॉर्म विमेओ ने 4 जनवरी को 11 फीसदी एंप्लॉयीज की छंटनी का ऐलान किया था। कंपनी ने पिछले साल जुलाई में भी 6 फीसदी कर्मियों को बाहर निकाला था। विमेओ यूट्यूब की ही तरह की एक वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म है।

वीडियो-होस्टिंग प्लेटफॉर्म Vimeo के 11% एंप्लॉयीज की छंटनी का ऐलान, नई जॉब खोजने में मदद करेंगी भारतीय मूल की सीईओ

कैब एग्रीगेटर और इलेक्ट्रिक व्हीकल बनाने वाली दिग्गज कंपनी ओला ने भी इस साल एंप्लॉयीज को बाहर निकाल दिया है। पिछले हफ्ते ओला ने अपनी टेक और प्रोडक्ट टीम से करीब 200 एंप्लॉयीज की छंटनी की। इसका सबसे अधिक असर इंजीनियरिंग सेक्शन पर दिखा। हालांकि कंपनी ने यह भी ऐलान किया कि इसका असर हायरिंग पर नहीं दिखेगा।

Ola में भी चली छंटनी की तलवार, इन सेग्मेंट से 200 एंप्लॉयीज को निकाला गया बाहर

दिग्गज सोशल मीडिया साइट शेयरचैट को गूगल और टेमासेक जैसी कंपनियां स्पांसर करती हैं। शेयरचैट ने भी 20 फीसदी कर्मियों की छंटनी का ऐलान किया है। माना जा रहा है कि इसका असर शेयरचैट और इसके शॉर्ट-फॉर्म वीडियो ऐप Moj के करीब 500 कर्मियों पर दिखेगा।

दिग्गज ग्रॉसरी डिलीवरी स्टार्टअप डुंजो ने पिछले हफ्ते 3 फीसदी एंप्लॉयीज की छंटनी की। कंपनी ने यह फैसला लागत घटाने के लिए किया था।

बाजार की विपरीत परिस्थितियों के बीच क्रिप्टो एक्सचेंज कॉइनबेस ने 10 जनवरी को 20 फीसदी एंप्लॉयीज को बाहर निकालने का ऐलान किया था। यह एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है जिस पर क्रिप्टोकरेंसीज को स्टोर किया जाता है और इसकी खरीद-बिक्री और ट्रांसफर होता है।

Coinbase के 20% एंप्लॉयीज की होगी छंटनी, पिछले साल भी हुई थी फायरिंग

क्रिप्टोकरेंसी लोन एक्सचेंज क्रिप्टोडॉटकॉम ने भी आर्थिक चुनौतियों के चलते छंटनी की है। इसके करीब 20 कर्मियों को बाहर निकाला जाएगा। पिछले साल इसमे 260 यानी करीब 5 फीसदी एंप्लॉयीज की छंटनी की थी।

छंटनी की मार सिर्फ टेक कंपनियों पर ही नहीं बल्कि अन्य सेक्टर्स पर भी पड़ी है। इनवेस्टमेंट बैंकिंग, सिक्योरिटीज और इवेस्टमेंट मैनेजमेंट फर्म गोल्डमैन सैक्स ने 3 हजार एंप्लॉयीज की छंटनी कर सकती है। हालांकि कितने एंप्लॉयीज को बाहर निकाला जाएगा, इस पर कोई आखिरी फैसला नहीं हुआ है।

नहीं थम रही छंटनी की मार, Goldman Sachs से अब एंप्लॉयीज की होगी फायरिंग

डायमंड सिटी के रूप में मशहूर सूरत में करीब 20 हजार लोगों को अपने काम से हाथ धोना पड़ा है। पश्चिमी देशों और चीन में पिछले एक महीने से कट और पॉलिश्ड डायमंड्स की मांग में बेतहाशा गिरावट हुई और चूंकि ये सबसे बड़े मार्केट हैं और दुनिया का 80 फीसदी बिकने वाला हीरा यहीं पॉलिश होता है तो मांग घटने का झटका यहां जोरों से लगा।

हीरे की फीकी चमक ने बढ़ाई दिक्कतें, सूरत में 20000 की गई नौकरी, 2008 जैसी मंदी की आशंका ने डराया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *