Multibagger Stocks: रॉकेट बना इस चॉकलेट कंपनी का शेयर, सिर्फ 3 हफ्ते में दिया 118% का रिटर्न – Lotus Chocolate Company share price surged 118 percent in just 3 week here is details


लोटस चॉकलेट कंपनी (Lotus Chocolate Company) के शेयरों में सोमवार को एक बार फिर 5 फीसदी का अपर सर्किट लगा और स्टॉक की कीमत 209.90 रुपये के अपने नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई। यह लगातार 16वां कारोबारी दिन है, जब लोटस चॉकलेट के शेयरों में अपर सर्किट लगा है। कंपनी के शेयरों में अपर सर्किट का यह सिलसिला 23 दिसंबर 2022 को शुरू हुआ था। तब इसके शेयरों का भाव 96.40 रुपये था, जो अब बढ़कर 209.90 रुपये पर पहुंच गया है। इस तरह महज 3 हफ्तों में इस शेयर की कीमत अबतक करीब 118% बढ़ चुकी है।

क्यों आ रही कंपनी के शेयरों में तेजी?

लोटस चॉकलेट के शेयरों में तेजी ऐसे समय में आ रही है, जब 29 दिसंबर को रिलायंस (Reliance) ग्रुप की कंपनी रिलायंस रिटेल (Reliance Retail) ने इसकी मेजॉरिटी हिस्सेदारी के अधिग्रहण का ऐलान किया था। रिलायंस रिटेल ने बताया था कि वह लोटस चॉकलेट कंपनी लिमिटेड की 51 फीसदी बहुमत हिस्सेदारी का अधिग्रहण करेगी।

रिलायंस रिटेल ने बताया था कि इस हिस्सेदारी का अधिग्रहण उसकी पूर्व स्वामित्व वाली सब्सिडियरी कंपनी रिलायंस कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड (RCPL) करेगी। इसके अलावा RCPL, लोटस चॉकलेट की अतिरिक्त 26% हिस्सेदारी खरीदने के लिए एक ओपन ऑफर भी लाएगी।

यह भी पढ़ें- शेयर बाजार में आज लोगों के ₹55 हजार करोड़ डूबे, सेंसेक्स 168 अंक लुढ़ककर हुआ बंद

रिलायंस रिटेल की तरफ से जारी बयान के मुताबिक, रिलायंस कंज्यूमर 113 रुपये के औसत भाव पर लोटस चॉकलेट कंपनी के 6.5 लाख शेयर खरीदेगी और इस तरह इसकी कुल वैल्यू 74 करोड़ रुपये होगी।

कंपनी के बारे में

लोटस कंपनी, कोको और चॉकलेट उत्पादों की सप्लाई करने वाली एक बिजनेस पार्टनर है, जो कोको बीन्स की सोर्सिंग से लेकर कोको बीन्स की प्रॉसेसिंग और चॉकलेट की डिलीवरी तक की सेवाएं मुहैया कराती है। इसके प्रोडक्ट दुनिया भर में चॉकलेट बनाने वाली इकाइयों और चॉकलेट यूजर्स को सप्लाई किए जाते हैं। इसमें स्थानीय बेकरी से लेकर मल्टी-नेशनल कंपनियां तक शामिल हैं।

वित्त वर्ष 2023 में की दूसरी तिमाही जुलाई-सितंबर 2022 में कंपनी को 14.63 करोड़ रुपये की नेट बिक्री पर 49 लाख रुपये का नुकसान हुआ था। पिछले वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में कंपनी ने 20.95 करोड़ रुपये की बिक्री की थी और 1.52 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट हासिल किया था।

डिस्क्लेमर: मनीकंट्रोल, नेटवर्क18 ग्रुप का हिस्सा है। नेटवर्क18 का नियंत्रण इंडिपेंडेट मीडिया ट्रस्ट करता है, जिसकी एकमात्र लाभार्थी रिलायंस इंडस्ट्रीज है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *