Q3 रेवेन्यू में 220 गुना उछाल के बाद चार दिनों में 70% भागा ये रियल एस्टेट स्टॉक, क्या है आपके पास? – This real estate stock rallied 70 percent in four days after 220x jump in Q3 revenue


लोढ़ा ग्रुप से संबंधित रियल इस्टेट कंपनी नेशनल स्टैंडर्ड के शेयरों में जोरदार तेजी देखने को मिल रही है। कंपनी के अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के नतीजों के ऐलान के बाद इस शेयर में सिर्फ चार दिनों में 70 फीसदी की तेजी देखने को मिली है। 31 दिसंबर 2022 को खत्म हुई तीसरी तिमाही में कंपनी की प्रचालन आय (रेवेन्यू फ्रॉम ऑपरेशन) में सालाना आधार पर 221 गुने की बढ़त हुई है और ये 2.62 लाख से बढ़कर 5.8 करोड़ रुपए पर आ गई है। BSE पर लिस्ट इस स्टॉक में 17 जनवरी यानी आज के कारोबार में 10 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है। कारोबार के अंत में आज ये शेयर 7537 रुपए के स्तर पर बंद हुआ है।

 4 कारोबारी दिनों में नेशनल स्टैंडर्ड  का शेयर कुल 70 फीसदी भागा 

12, 13 और 16 जनवरी को नेशनल स्टैंडर्ड इंडिया के शेयर में 20-20 फीसदी की तेजी देखने को मिली। जिसके चलते पिछले 4 कारोबारी दिनों में ये शेयर कुल 70 फीसदी भागा है। कंपनी की कुल मार्केट कैप 15075 करोड़ रुपए है। जिसमें से 3900 करोड़ फ्री फ्लोट मार्केट कैप है।

11 जनवरी को नेशनल स्टैंडर्ड ने एक्सचेंज को सूचित किया है कि दिसंबर में खत्म हुई वित्तवर्ष 2023 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा सालाना आधार पर 13.29 फीसदी की बढ़त के साथ 3.24 करोड़ रुपए पर रहा है जो पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 2.86 करोड़ रुपए रहा था। इस बीच कंपनी की टोटल इनकम 4.4 करोड़ रुपए से दो गुना बढ़कर 8.5 करोड़ रुपए पर रही है। इसमें 5.8 करोड़ रुपए की प्रचालन आय (रेवेन्यू फ्रॉम ऑपरेशन) और 2.75 करोड़ रुपए की अन्य आय शामिल है। वहीं, पिछले वित्तवर्ष यानी Q3 FY22 में कंपनी की प्रचालन आय (रेवेन्यू फ्रॉम ऑपरेशन) 2.62 सिर्फ 2.62 लाख रुपए थी। जबकि अन्य आय 4.39 करोड़ रुपए थी।

Technical View: निफ्टी ने बनाया बुलिश कैंडल, जानें 18 जनवरी को कैसा रहेगा मार्केट का मिजाज

कंपनी महाराष्ट्र के थाणे में लोढ़ा ग्रैंडेजा प्रोजेक्ट पर कर रही काम

नेशनल स्टैंडर्ड इंडिया  वर्तमान में महाराष्ट्र के थाणे में लोढ़ा ग्रैंडेजा (Lodha Grandezza) नाम के रेसीडेंसियल प्रोजेक्ट पर काम कर रही है। ये प्रोजेक्ट उच्च और उच्च मध्यवर्ग के ग्राहकों को ध्यान में रखकर तैयार की जा रही है। 25 जनवरी 2022 को Macrotech Developers (Lodha) के बोर्ड ने Macrotech Developers के साथ नेशनल स्टैंडर्ड, रोजलैब्स फाइनेंस और सनथनगर एंटरप्राइजेज के विलय की योजना पर विचार किया और इस योजना मंजूरी दे दी। चूंकि इस योजना के तहत निर्धारित मर्जर रेशियो नेशनल स्टैंडर्ड के शेयरधारकों को पसंद नहीं आया था। इसलिए मर्जर के ऐलान के बाद इस शेयर में लोअर सर्किट लग गया था।

इसके बाद, मैक्रोटेक डेवलपर्स ने एक स्पष्टीकरण जारी किया था। जिसमें कहा गया था कि ये विलय योजना तीनो कंपनियों के माइनोरिटी शेयरधारकों के बहुमत के अनुमोदन के बाद ही आगे बढ़ेगी। एक्सचेंज को दी गई जानकारी में मैक्रोटेक डेवलपर्स ने कहा है कि Covid-19 के पहले कंपनी की मार्केट कैप 100 करोड़ रुपए थी। इन्फ्रीक्वन्ट ट्रेडिंग (infrequent trading)के वजह से इसमें बढ़त देखने को मिली है। मनीकंट्रोल ने इस मर्जर योजना पर मैक्रोटेक डेवलपर्स से अपडेट मांगा था है। इस पर कोई जानकारी मिलने पर सूचित किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *